हजारीप्रसाद द्विवेदी के पत्र

प्रथम खंड

संख्या - 42


IV/ A-2041

4.10.40

आदरणीयेषु,

              प्रणाम!

       पहले मैंने लिखा था कि हम लोग 12 अक्टूबर को ललितपुर पहुँचेंगे। पर अब हमने यही तय किया है कि आपके तार के अनुसार 10 को सबेरे बहाँ पहुँचे। हम ललितपुर सबेरे 10 अक्टूबर को पहुँच रहे हैं।

       और सब कुशल है।

आपका

हजारी प्रसाद द्विवेदी

पिछला पत्र   ::  अनुक्रम   ::  अगला पत्र


© इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र १९९३, पहला संस्करण: १९९४

सभी स्वत्व सुरक्षित । इस प्रकाशन का कोई भी अंश प्रकाशक की लिखित अनुमति के बिना पुनर्मुद्रित करना वर्जनीय है ।

प्रकाशक : इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र, नई दिल्ली एव राजकमल प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली